रायडू ने अपने रिटायरमेंट पत्र में दिल खोलकर लिखी ऐसी बातें, रोहित, धोनी और कोहली के लिए हुए इमोशनल


4 जुलाई। भारत के मध्यक्रम के बल्लेबाज अंबाती रायडू ने बुधवार को क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने की घोषणा की। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने बुधवार को एक बयान जारी कर इसकी पुष्टि की।

रायडू ने बीसीसीआई को पत्र लिख कर संन्यास की जानकारी दी। हालांकि, इस मुद्दे पर बयान लेने के लिए बल्लेबाज से संपर्क नहीं हो पाया।

बीसीसीआई ने अपने बयान में कहा, “रायडू ने क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास लेने का फैसला किया है।”

बीसीसीआई के बयान के मुताबिक रायडू ने बोर्ड को भेजे पत्र में लिखा है, “मैंने यह फैसला लिया है कि मैं खेल से पीछे हट जाऊं और क्रिकेट के सभी प्रारूप से संन्यास ले लूं। मेरे लिए यह शानदार सफर रहा। बीते 25 साल में अपने सामने करियर में आए कई उतार चढ़ावों से काफी कुछ सीखा।”

रायडू ने बीसीसीआई का शुक्रिया अदा करते हुए लिखा, “मैं बीसीसीआई और उन सभी राज्य संघों का शुक्रिया अदा करता हूं जिन्होंने मुझे खेलना का मौका दिया। इसमें हैदराबाद, बड़ौदा, आंध्र प्रदेश और विदर्भ के नाम शामिल हैं। मैं इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) की दो फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियंस और चेन्नई सुपर किंग्स का भी शुक्रिया अदा करता हूं।”

बीसीसीआई ने भी रायडू को भविष्य के लिए बधाई दी है। 

रायडू को विश्व कप के लिए 15 सदस्यीय टीम में शामिल नहीं किया गया था। रिजर्व में नाम होने के बावजूद, शिखर धवन और विजय शंकर के चोटिल होने पर उन्हें टीम में नहीं शामिल किया गया और ऋषभ पंत एवं मयंक अग्रवाल को उनकी जगह मौका दिया गया।

भारत के लिए विश्व कप टीम में जगह नहीं पाने के बाद आइसलैंड क्रिकेट ने मंगलवार को एक विचित्र ट्वीट करते हुए 33 वर्षीय बल्लेबाज को अपने देश में स्थायी निवास देने की पेशकश की ताकि वह उनके लिए खेल सकें।

शुरुआत में विश्व कप के लिए चुनी गई टीम में शामिल न होने के बाद रायडू ने अपनी नाराजगी व्यक्त की थी और चयनकर्ताओं के शंकर को टीम में लेने के फैसले पर बिना नाम लिए सवाल उठाया था। उन्होंने एक ट्वीट में मुख्य चयनकर्ता एम.एस.के. प्रसाद कि इस बात की खिल्ली उड़ाई थी कि ‘विजय शंकर टीम को तीन आयाम (थ्री-डाइमेंशन) प्रदान करेंगे।’ 

रायडू ने ट्वीट किया था, विश्व कप देखने के लिए 3-डी चश्मों का एक नया सेट ऑर्डर कर दिया है।

रायडू ने भारत के लिए 47.05 की औसत के साथ 55 वनडे में कुल 1,694 रन बनाए। उनका सर्वाधिक स्कोर नाबाद 124 रन रहा। उन्होंने तीन शतक और 10 अर्धशतक भी लगाए। उन्होंने छह टी-20 भी खेले। इसमें उन्होंने 10.50 की औसत से केवल 42 रन बनाए। इसके अलावा, 97 फस्र्ट क्लास मैच में उनके नाम 6,151 रन हैं। 

वह 2018 में आईपीएल जीतने वाली और इसी साल फाइनल में पहुंचने वाली चेन्नई का भी हिस्सा थे।

 






Source link

Recommended For You

About the Author: Vivek Jaiswal