रिवर्स स्विंग के लिए टीम इंडिया की खास रणनीति, वन बाउंस थ्रो कर गेंद लौटा रहे फील्डर्स – Team Indias Strategy for Reverse swing Bowling, Fielders are throwing one bounce


रिवर्स स्विंग के लिए टीम इंडिया की खास रणनीति, वन बाउंस थ्रो कर गेंद लौटा रहे फील्डर्स

वर्ल्ड कप मैचों में रिवर्स स्विंग गेंदबाजी के लिए टीम इंडिया खास रणनीति अपना रही है.

News18Hindi

Updated: July 4, 2019, 5:31 AM IST

वन डे क्रिकेट में एक पारी में दो नई गेंदों के नियम का कई दिग्गज क्रिकेटर विरोध कर चुके हैं. दरअसल, इससे बल्लेबाजों को तो फायदा मिलता है, लेकिन गेंदबाजों को रिवर्स स्विंग कराने में काफी मुश्किल होती है. वर्ल्ड कप के दौरान टीम इंडिया ने इस समस्या का हल ढ़ूंढ निकाला है. टीम ने रणनीति बनाई है कि जब भी बॉल किसी फील्डर के पास जाएगी तो वह वन बाउंस के साथ लौटाएगा. इससे गेंद जल्द ही अपनी चमक खो देगी. चमक खत्म होने पर बॉलर को बेहतर पकड़ के साथ रिवर्स स्विंग कराने में मदद मिलेगी.

वन बाउंस के कारण गेंद जल्द ही हो जाती है पुरानी 

टीम इंडिया की इस रणनीति पर सलामी बल्लेबाज लोकेश राहुल ने कहा कि गेंद हर ओवर के साथ पुरानी होती जाएगी. जब आप फील्डिंग करते समय गेंद को वन बाउंस के साथ लौटाते हो तो वह जल्दी पुरानी हो जाती है. इसके अलावा हम गेंद को पुरानी करने के लिए कुछ और नहीं कर सकते. बांग्लादेश के खिलाफ खेले गए मैच में 4 विकेट झटकने वाले तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने भी राहुल की बात का समर्थन किया है.

बल्लेबाज के लिए पुरानी गेंद मारना नहीं होता आसानजसप्रीत बुमराह ने कहा कि हमारी रणनीति स्पिनर्स के गेंदबाजी करने से पहले गेंद को जल्द से जल्द पुरानी करने की है. नई गेंद ज्यादा कुछ कर नहीं रही थी. गेंद जितनी पुरानी होगी, विकेट भी उतना ही धीमा हो जाएगा. हम जानते थे कि एक बार गेंद पुरानी हो गई तो बल्लेबाज को उसे मारना आसान नहीं होगा.

तेंदुलकर कर चुके हैं दो नई गेंद के नियम की आलोचना 

पूर्व क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर भी वनडे की एक पारी में दो नई गेंदों की आलोचना कर चुके हैं. सचिन ने कहा था कि एक पारी में दो नई गेंदें वनडे क्रिकेट के खात्मे की तैयारी के लिए सबसे सही है. अब एक भी गेंद पुरानी होने का समय नहीं मिलेगा, जिससे वो रिवर्स स्विंग हो सके. हमने काफी लंबे समय से रिवर्स स्विंग नहीं देखी जो आखिरी ओवरों का अहम हिस्सा होती थी.

ये भी पढ़ें:

इस टीम के खिलाफ सेमीफाइनल में भिड़ेगी टीम इंडिया, जानिए कब होगा मुकाबला

तब सचिन-सहवाग-गंभीर पर उठाए थे सवाल, अब खुद के धीमेपन पर चुप क्यों हैं धोनी





Source link

Recommended For You

About the Author: Vivek Jaiswal