Ms Dhoni can take retirement in World Cup 2019 Jagran Special


Publish Date:Thu, 04 Jul 2019 12:04 AM (IST)

 नई दिल्ली, जेएनएन। World Cup 2019: हर महान खिलाड़ी के करियर में वो दिन जरूर आता है जब वो अपने खेल को अलविदा कह देता है। भारत के महान क्रिकेटर व टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी (Ms Dhoni) भी शायद इस विश्व कप में क्रिकेट को अलविदा कह दें। इस वक्त टीम इंडिया ने विश्व कप के सेमीफाइनल में जगह बना ली है। अब टीम सेमीफाइनल से आगे जाएगी या नहीं इस पर कुछ कहा नहीं जा सकता। वहीं भारत का जो भी मैच इस विश्व कप का आखिरी मैच होगा वो धौनी का भी अंतिम मैच साबित हो सकता है। उस मैच के बाद शायद ही भारतीय क्रिकेट फैंस उन्हें ब्लू जर्सी में देख सकें। बीसीसीआई के सूत्र ने इसकी जानकारी दी है। 

टीम इंडिया अगर इस विश्व कप का सेमीफाइनल मुकाबला जीत लेती है तो वो 14 जुलाई को लॉर्ड्स में फाइनल मैच खेलेगी। अगर ऐसा होता है तो धौनी के विदाई के लिए इससे बेहतर शायद ही कुछ हो सकता है। बीसीसीआइ सूत्र का कहना है कि धौनी के बारे में कुछ नहीं कह सकते, लेकिन इस बात की संभावना काफी कम ही है कि वो विश्व कप के बाद भी खेलना जारी रखें। धौनी ने इससे पहले क्रिकेट के तीनों प्रारूपों की कप्तानी भी अचानक ही छोड़ी थी और टेस्ट क्रिकेट को भी एकदम से अलविदा कह दिया था। ऐसे में किसी भी तरह का अनुमान लगाना मुश्किल है। 

धौनी के संन्यास की संभावना इसलिए भी बढ़ जाती है क्योंकि इस वक्त जो चयन समिति है उनका कार्यकाल अक्टूबर में होने वाली एजीएम तक ही जारी रहने की उम्मीद है। उससे बाद ऑस्ट्रेलिया में अगले वर्ष खेले जाने वाले टी 20 विश्व कप की तैयारियां शुरू हो जाएगी। इसके लिए नई चयन समिति के पास ज्यादा वक्त नहीं बचेगा और धौनी अगले टी 20 विश्व कप में खेलें इसकी संभावना तो कम ही दिखती है। 

विश्व कप में एक बार फिर से टीम इंडिया सेमीफाइनल में पहुंच गई है। इस विश्व कप में टीम इंडिया को धौनी जैसे अनुभवी खिलाड़ी की जरूरत है, लेकिन धौनी की बल्लेबाजी को लेकर काफी सवाल उठ रहे हैं। वैसे भी टीम मैनेजमेंट की तरफ से कहा गया था कि वो 2019 विश्व कप तक ही धौनी को टीम में चाहते हैं। हालांकि ये काफी संवेदनशील मामला है और इसके बारे में कोई कुछ कह नहीं सकता पर 37 वर्ष के धौनी को इस बात की अच्छी तरह से पता है कि उन्हें कब क्या करना है। टीम इंडिया के एक पूर्व खिलाड़ी का कहना है कि विश्व कप के बाद धौनी के लिए चीजें आसान नहीं रह जाएंगी। 

धौनी ने टीम इंडिया को जिस मुकाम पर पहुंचाया वो किसी भी कप्तान के लिए आसान नहीं होता। वो भारत के पहले ऐसे कप्तान बने थे जिसने टीम इंडिया को आइसीसी के हर टूर्नामेंट का खिताब टीम को दिलाया। कप्तान के तौर पर एक से बढ़कर एक उपलब्धि उनके नाम पर तो है ही साथ ही साथ एक बल्लेबाज और विकेटकीपर के तौर पर भी उन्होंने शानदार कामयाबी हासिल की है। 

Posted By: Sanjay Savern





Source link

Recommended For You

About the Author: Vivek Jaiswal