NTA NEET Result 2019: Pushpesh of Kanpur achieved 180th rank topped in the city – NTA NEET Result 2019 :कानपुर के पुष्पेश ने 180वीं रैंक पाकर किया शहर में टॉप, Career Hindi News


पुष्पेश मिश्रा ने ऑल इंडिया 180वीं रैंक प्राप्त कर नीट में कानपुर में टॉप किया है। छात्राओं में रमशा टॉप पर रही हैं। रमशा की ऑल इंडिया 273वीं रैंक है। बुधवार को नीट का परिणाम घोषित हुआ। रिजल्ट घोषित होते ही मेधाओं से लेकर उनके अभिभावकों के बीच परिणाम जानने को बेताबी नजर आई। मगर बार-बार वेबसाइट क्रैश होने से छात्र परेशान रहे। हर आधे घंटे बाद वेबसाइट क्रैश होती रही। इससे देर शाम तक रिजल्ट देखने का सिलसिला चलता रहा। 

NTA NEET result 2019: विभास ने जेईई मेन्स के पैटर्न पर की फिजिक्स और केमेस्ट्री की तैयारी

देश के मेडिकल कॉलेजों में प्रवेश के लिए होने वाली परीक्षा नीट का परिणाम बुधवार को जारी हो गया। परीक्षा में देशभर के करीब 15 लाख से अधिक छात्र-छात्राओं ने हिस्सा लिया था। शहर के भी करीब 18 हजार से अधिक अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी थी। बुधवार दोपहर एक बजे रिजल्ट घोषित होना था। रिजल्ट जारी होने की सूचना आई मगर जब तक कोई रिजल्ट देख पाता वेबसाइट क्रैश कर गई। फिर एक घंटे बाद वेबसाइट खुली तो आधे घंटे बाद फिर क्रैश कर गई। इन सबके बीच छात्र अपना रिजल्ट देखकर उत्साहित होते रहे।

NTA NEET Result 2019: ये हैं नीट परीक्षा के टॉप 10 ऑल इंडिया रैंक पाने वाले स्टूडेंट्स

शहर में पहले स्थान पर पुष्पेश मिश्रा, दूसरे स्थान पर रमशा रही। तीसरे स्थान पर 304वीं ऑल इंडिया रैंक के साथ यशवर्धन रहे। इसके बाद 443वीं रैंक के साथ मधुर कटियार चौथे, 586वीं रैंक के साथ शक्ति कटियार पांचवें और 845वीं रैंक के साथ उत्कर्ष सिंह छठें स्थान पर रहे। 2000 रैंक तक वाले छात्रों की संख्या शहर में काफी अधिक है। वहीं विशेषज्ञों के मुताबिक 12 हजार तक रैंक वालों को एमबीबीएस मिल जाएगा। 

डॉक्टर के बच्चे बनेंगे डॉक्टर 3 नीट के रिजल्ट ने एक बार फिर सही साबित कर दिया कि डॉक्टर के बच्चे ही डॉक्टर अधिक बनना चाहते हैं। शहर में तीसरे स्थान पर रहने वाले यशवर्धन के पिता अशोक कुमार डॉक्टर हैं। मधुर कटियार के पिता अवधेश कुमार कटियार भी पेशे से चिकित्सक हैं। 

शक्ति कटियार के पिता सुबीर कटियार भी डॉक्टर हैं। इसी तरह अन्य कई मेधाओं के पिता भी डॉक्टर हैं। उनका कहना है कि बचपन से ही पिता को देखकर डॉक्टर बनने की इच्छा जाग्रत हो गई थी। 



Source link

Recommended For You

About the Author: Rohit Gupta