मिस्बाह उल हक़ को पत्रकार ने कश्मीर पर उलझाना चाहा, तो वो परे होकर निकल लिए


हाल में ही मिस्बाह उल-हक़ पाकिस्तान क्रिकेट टीम के कोच और चीफ सेलेक्टर बनाए गए हैं. श्री लंका के साथ पाकिस्तान की वन डे सीरीज शुरू होने वाली है. इसके ठीक पहले एक प्रेस कांफ्रेंस हुई. इसके बाद मिस्बाह सुर्ख़ियों में बने हुए हैं .

इसी प्रेस कांफ्रेंस में मिस्बाह से एक ऐसा सवाल पूछा गया, जो उन्हें कंट्रोवर्सी के ठीक बीच में खड़ा कर सकता था, लेकिन वो सफाई से खुद को बचा ले गए. एक जर्नलिस्ट ने उनसे पूछा कि क्या पाकिस्तानी क्रिकेट टीम भी कश्मीर की मदद करने या उसका मुद्दा हाई लाईट करने के लिए कुछ करेगी, जैसा भारतीय क्रिकेट टीम ने किया था जब पुलवामा अटैक के बाद उन्होंने आर्मी कैप्स पहनी थीं?

इस बात पर मिस्बाह ने जवाब दिया, क्या करवाना चाह रहे हो आप भाई? उसके बाद उन्होंने कहा कि सहानुभूति तो पूरे पाकिस्तान की कश्मीर के साथ हैं, लेकिन अभी बात क्रिकेट की करते हैं.

मिस्बाह को टीम के कोच और सेलेक्टर के रूप में दो रोल्स दिए गए हैं निभाने के लिए. इस बाबत उनसे ये भी पूछा गया कि उन्हें इसके लिए सैलरी कितनी मिल रही है. मिस्बाह ने बताया,

‘मैंने ये जॉब पाने के लिए कोई जादू नहीं किया. मैंने कोई सैलरी की मांग नहीं की. मैंने उनसे बस मुझे वही सैलरी देने को कहा जो वो पिछले कोच को दे रहे थे’.

हिन्दुस्तान टाइम्स में छपी खबर के मुताबिक़ मिस्बाह को उनके दोहरे रोल के लिए सालाना 3.4 करोड़ सैलरी दी जाएगी.


वीडियो: इंटरव्यू: जब पूछा गया कि मीम्स के लिए तैयार हैं तब ‘बार्ड ऑफ ब्लड’ की टीम ने क्या कहा?





Source link

Recommended For You

About the Author: Vivek Jaiswal