हिमाचल सरकार का फरमान: जंगलों की सुरक्षा के लिए वन रक्षकों को खुद खरीदने होंगे हथियार

Edited By: हिमाचल एक्सप्रेस डेस्क
अपडेटेड: 5 months ago IST
Today Top News

जंगलों की सुरक्षा के लिए तैनात फॉरेस्ट गार्ड्स को अब खुद के पैसों से हथियार खरीदने होंगे। राज्य सरकार ने फॉरेस्ट गार्ड्स के कंधों पर यह अतिरिक्त बोझ डालने का फरमान जारी किया है। आदेश में कहा गया है कि फॉरेस्ट गार्ड्स अपनी पसन्द की राइफल्स या बंदूकें खुद के पैसों से खरीदें। सरकार तो बस 12 हज़ार का अनुदान ही देगी

सरकार का ये नया फरमान न केवल हैरान करने वाला है बल्कि अपने कर्मचारियों की सुरक्षा को लेकर सरकार और वन विभाग की सोच पर भी सवाल खड़े करता है। क्योंकि जब ये फॉरेस्ट गार्ड्स नौकरी सरकार की करते हैं, और उन्हें 11 हजार  का वेतन मिलता है अब इस वेतन से वे अपना गुजरा करें या हथियार खरीदे। वहीं, सरकार द्वारा  हथियार खरीदने का जिम्मा भी उन्हीं पर डाला है। ये हथियार बाजार में 30 से 50 हजार में मिलते हैं। ऐसे में 11 हजार तक की पगार पाने वाला एक वन रक्षक इसे कैसे खरीद पाएगा।

अन्य ख़बरें

loading...